Friday, 23 August 2019

TB Treatment ,tb symptoms ,tb, tuberculosis symptoms टीवी तपेदिक के लक्षण और उपचार

TB Treatment ,tb symptoms टीवी तपेदिक के लक्षण और उपचार

TB Treatment ,tb symptoms ,tb, tuberculosis symptoms
TB Treatment ,tb symptoms ,tb, tuberculosis symptoms 

क्षय रोग टीवी
tb symptoms
फेफड़े यानी छह रोग को को ठीक करने के लिए लहसुन का सेवन करना अति लाभदायक होता है लेसन अमृत के समान है टीवी बीमारियों के लिए लोशन अत्यधिक प्रबल कीटनाशक है और एंटीबायोटिक के औषधि का अच्छा विकल्प है इसके प्रयोग से छह के कीटाणु नष्ट हो जाते हैं टीवी रोगी इस से जल्दी ही ठीक हो जाता है


TB Treatment 
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); 1. लहसुन को साफ करके पीस छानकर पानी में मिलाकर रख लें रोगी को दो-तीन चम्मच की मात्रा में दिन में तीन बार पिलाने से इस बीमारी में फायदा होता है

2. दूसरा उपाय टीवी के रोगी को फूल गोभी का सूप पिलाते रहने से उसका रोग दूर होने में मदद मिलती है

3. तीसरा उपाय मुनक्का ,पीपल, शक्कर सामान भाग पीसकर एक चम्मच सुबह-शाम खाने से यह tb रोग कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है

4. लहसुन प्रयोग कैसे करते हैं तो प्रयोग करने से पहले लहसुन को छील लीजिए इसकी बारीक पत्ती को भी हटा दीजिए भोजन के बाद लहसुन की दो कली को मुनक्के के साथ चबाकर खाएं  इस विधि से लहसुन खाने से कब्ज की शिकायत में भी आराम मिलता है

या   फिर आप क्या करें खाना खाना प्रारंभ करने पर दो से चार कली तक चबाकर खाना चाहिए फिर पूरा खाना खाए इस प्रयोग यदि शीत ऋतु में चार माह तक किया जाए तो यह Tb को खत्म कर देता है

Bronchial asthma,Asthma,Asthma symptoms अस्थमा के लक्षण, घरेलू उपचार और कैसे बचें ध्यान रखने वाली बातें

bronchial asthma,Asthma symptoms ,अस्थमा के लक्षण, घरेलू उपचार और कैसे बचें ध्यान रखने वाली बातें

Bronchial asthma,Asthma,Asthma symptoms अस्थमा के लक्षण, घरेलू उपचार
Bronchial asthma,Asthma,Asthma symptoms अस्थमा के लक्षण, घरेलू उपचार

दोस्तो दमा एक प्रकार की एलर्जी क्रिया है जब यही क्रिया त्वचा में होती है तब उसे एंजिमा कहते हैं जब स्वसन तंत्र में हो तो दमा कहते हैं

Asthma symptoms

करण 
दमा ऐसे तो सूक्ष्म तत्वों से हो सकता है जिन्हें आंखों से देख पाना असंभव है जैसे पदार्थों व धूल कणों से, पालतू कुत्तों, बिल्लियों, खरगोश, आदि बालदार जानवरों से कुछ लोग गीले रंगों, वाहनों के धुएं, सिगरेट के धुए, कुछ औषधियों से भी रोग ग्रस्त हो सजाते हैं कुछ तत्व जो स्वसन तंत्र को उत्तेजित करते हैं उन्हें एलर्जी क्रिया पैदा कर देते हैं मौसम के तापमान का परिवर्तन अत्यधिक शारीरिक भावनात्मक उलझाने, अत्यधिक हंसी भी Asthma दमा का दौरा उत्पन्न कर सकते हैं


       asthma treatment

इसके लिए चिकित्सा उपाय

1. साधारण द मोशन होने पर सुहागा सुहागा का फूल
और मुलहठी को अलग-अलग कूट पीसकर छानकर मैदे की तरह बारीक चूर्ण बना लें आधा ग्राम से 1 ग्राम तक द वाल दिन में दो-तीन बार शहद के साथ चाटे या गर्म जल के साथ लें दही केला चावल ठंडे पदार्थ का सेवन ना करें।

2.दूसरा उपाय
बच्चों को दमा होने पर यदि आयु 1 साल से अधिक हो तो पांच तुलसी के पत्ते खूब बारीक पीसकर शहद के साथ सुबह शाम 3-4 सप्ताह तक चटाई 1 साल से कम आयु वाले शिशु को तुलसी का रस 2 बूंद थोड़ी शहद में मिलाकर दिन में दो बार चटाए बच्चों के दमा Asthma के साथ-साथ उसके स्वसन के अनेक रोग जड से दूर होंगे।

3. उपाय
लहसुन दमा के रोग में अत्यधिक लाभप्रद औषधि है लहसुन का रस 10 बूंद 2 चम्मच शहद एक कप गर्म पानी में नित्य प्रातः लेना चाहिए इसे दौरे के समय भी ले सकते हैं लहसुन की कली को भूनकर नमक मिला कर दो बार खाने से भी दमा के रोग मे लाभ होता है

bronchial asthma

4.  सर्द ऋतु में गुड़ और काले तिल के लड्डू खाने से दमा में लाभ होता है दमा ना होने पर भी इसके खाने से दवा नहीं होता है

5. 30 से 40 ग्राम अंगूर का रस गर्म करके रोगी को पिलाने से स्वासन का वेग घट जाता है

6. 5 से 7 बादाम की गिरी को पानी में पीसकर आग पर कुछ देर तक उबालें थोड़ा-थोड़ा रोगी को पिलाने से Asthma दमा का दौरा थम जाता है

7.  उपाए
छोटी इलायची खाना दमें में लाभदायक होती है

8. भस्त्रिका प्राणायाम करना दमा रोग में बहुत ही लाभदायक होता है

क्या खाय क्या नहीं    Asthma
1.दमा के रोगियों को अकेला नहीं खाना चाहिए
2.दमा के रोगियों को तरबूज का रस नहीं पीना चाहिए
3.दमा रोगी को ज्यादा धुल वाली जगहो पर  नहीं घूमना चाहिए धूल जैसे जगहों पर घूमना फिरना नहीं चाहिए ।

Thursday, 22 August 2019

Piles home remedies बवासीर का घरेलू 8 उपचार,piles symptoms बवासीर के लक्षण, Piles

Piles home remedies  बवासीर का घरेलू 8 उपचार,piles symptoms बवासीर के लक्षण, Piles

Piles home remedies  बवासीर का घरेलू 8 उपचार,piles symptoms बवासीर के लक्षण, Piles
Piles home remedies  बवासीर का घरेलू 8 उपचार,

hemorrhoids 

बाबासीर या पाइल्स  piles
लगातार कब्ज रहने से मलद्वार की खून की नसें एकत्रित होकर गुच्छा सा बना लेती है इस गुच्छो को ही बवासीर का मस्सा बोलते हैं मस्से में रक्त भर जाने से यह फूल जाती है जिससे मरीज को भारी दर्द और रक्त स्त्राव होता है कब्ज न होने देने से ही बवासीर रोग Piles home remedies से बचा जा सकता है

लक्षण- piles symptoms
जब आप लैट्रिन जाते हो तब रक्त की बूंदे गिरना ,कांटा चुभने जैसी वेदना, गुर्दा में जलन होना खुजली आदि हो तो चेक बवासीर के लक्षण होते हैं लगातार कब्ज रहने से जब मल त्याग करते समय जोर लगाते रहते हैं तो इसी कारण बाबासीर हो जाती है

कारण-
इसका मेन कारण सख्त मल्ह यानी कड़क मल आना, कब्ज रहना ,बार-बार दस्त व दस्त लगने की दवाएं लेना ,चटपटी मसालेदार चीजों का अधिक सेवन करना शराब पीना लीवर की खराबी बिना परिश्रम के जीवन बिताना, रातों को जगना बैठे रहने का काम अधिक करना ऐसी दवाइयां या भोजन का सेवन करना जो गर्मी पैदा करते हैं आदि कारणों से बाबासीर हो जाती है

बवासीर का इलाज-   Piles home remedies 
1. पहला उपाय गाय का दूध 250 ग्राम गर्म कर ठंडा किया हुआ रोगी को सुबह बिना कुछ खाए एक हाथ में दूध और एक हाथ में आधा नींबू ले निंबू को दूध में निचोड़ कर तुरंत पीलादे ऐसा तीन से 5 दिन लगातार करने से आपको लाभ होगा अति महत्वपूर्ण उपाय है इससे तुरंत लाभ मिलता Piles home remedies है

2. सबसे महत्वपूर्ण उपाय
सूखे नारियल की जटा को जलाकर राख बना ले और छानकर रख लें इस नारियल जटा भस्म को एक चम्मच दिन में तीन बार खाली पेट दही की छाछ बनाकर केवल एक ही दिन लेने से खूनी और बादी दोनों प्रकार की बवासीर दूर होगी आपको दूसरी खुराक लेना की भी जरुरत नही पड़ेगी यह जल्दी असर करता है आपकी बाबासीर में तुरंत रिजल्ट देता है

3. दूसरा उपाय बवासीर से बचने का सबसे सरल उपाय है कि सोच करने के बाद  जब आप मल द्वार साफ करें तो गुदाद्वार में उंगली डालकर उसे पानी से अच्छी तरह धोएं इससे कभी बाबासीर नहीं होगी

4. उपाय मिट्टी को गीला कर गोदा पर रखकर पट्टी बांधें या फिर गीली मिट्टी पर कपड़े उंचे कर बैठने से कुछ ही दिनों में आपको बवासीर की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा  Piles home remedies

5. चौथा उपाए गुर्दा तथा मूत्र द्वारा पर संकुचन करने से भी इस रोग से छुटकारा मिल जाता है एक बार में 8 से 9 बार संकुचन करना चाहिए

6. नींबू काटकर 5 ग्राम कथा पीसकर नींबू में लगाकर रात को रखें सुबह दोनों टुकड़े चूसले खून बंद करने के लिए बढ़िया दवा है 15 दिन इस्तेमाल करें

7. गेंदे की पत्तियां 10 और कालीमिर्च 3 ग्राम पानी में घोटकर छानकर पीने से खूनी बवासीर का खून गिरना बंद हो जाता है

8. अदरक की एक गांठ कुचलकर एक कप पानी में डालकर उबालें जब पानी एक चौथाई कप बचे तब उतारकर ठंडा कर लें इसमें एक चम्मच शक्कर हो या मिश्री मिलाकर दिन में 1 बार सुबह पीने से बवासीर रोग  Piles home remedies  ठीक हो जाता है ।

Thursday, 1 August 2019

How to gain weight | वजन कैसे बढ़ाये | how to increase weight | मोटापा बढ़ाने के उपाय

How to gain weight | वजन कैसे बढ़ाये 

How to gain weight | वजन कैसे बढ़ाये | how to increase weight | मोटापा बढ़ाने के उपाय
How to gain weight | वजन कैसे बढ़ाये | how to increase weight | मोटापा बढ़ाने के उपाय 

How to increase weight वजन कैसे बढ़ाये
मोटापा बढ़ाने के उपाय पहले दुबले शरीर वाले मोटापा बढ़ाना चाहते हैं तो वहीं नीचे लिखी चीजों का लंबे समय तक सेवन करके मोटापा बढ़ा सकते हैं

How to gain weight
उपाय चिकित्सा

1. केले खाने से वजन बढ़ता है-Weight gain by eating banana
तो केला खाकर ऊपर से एक पाव गर्म दूध एक माह तक रोजाना पीते रहने से मोटापा बढ़ता है गर्मी में इन्हीं  से बनाना शेक बनाकर भी पी सकते हैं । इससे आपका वजन बडेगा।How to gain weight
केले खाने से वजन बढ़ता है

2. खजूर खाने से वेट बढ़ता है-Increases weight by eating date palm
छुआरा या खजूर शरिर को बल देता है शरीर को मोटा करता है दूध में छुहारे उबालकर खाएं सर्दी में सर्दी के मौसम में अधिक लाभ होता है। इससे आपका वजन बडेगा weight gain by date palm

3.शहद खाने से वजन बढ़ता है-Eating honey increases weight
मोटापा बढ़ाने के लिए शहद रोजाना दूध में मिलाकर पिए weight gain by hunney

4. सेब गाजर से वजन बढ़ाएं-Increase weight with apple carrots
छिलका सहित सेब अच्छा सेब या गाजर लेकर अलग-अलग कद्दूकस कर लें और 200 ग्राम की मात्रा दोपहर भोजन के बाद खाना चाहिए यदि आपका वजन गिर रहा हो तो आपको कमजोरी का अनुभव हो रहा हो तो इससे बहुत जल्दी लाभ होता है।

5.जो से अपना वजन बढ़ा है-Which has increased your weight
 जो की गोली व छिलके के जो जो कि बाजार में मिलते हैं एक कप जो को दूध के साथ खीर बनाकर कुछ सप्ताह खाने से दुबले पतले व्यक्ति मोटे हो जाते हैं। how to gain weight 

6. अंडे से वजन बढ़ाएं-Increase weight with eggs
रोजाना अंडे खाए और उसके ऊपर आधा पाव दूध पिए इससे आपका वजन जल्दी बढ़ेगा और साथ ही दो केले का सेवन भी करें how to gain weight by egg
अंडे से वजन बढ़ाएं-Increase weight with eggs


7.रोजाना देसी चने खाकर वजन बढ़ाय-Increase weight by consuming Indian gram daily
रोजाना देसी चने गला कर खाए इसमें कार्बोहाइड्रेट होता है जिससे आपका वजन बहुत जल्दी से बढ़ता है।
how to gain weight

यह भी पढ़िए
Healthy diet |स्वस्थ आहार

amla आंवला | आंवले के गुण Properties of amla |आंवला खाने के फायदे Advantages of eating Amla

amla आंवले के गुण | आंवला खाने के फायदे  Advantages of eating Amla

amla आंवला | आंवले के गुण Properties of amla |आंवला खाने के फायदे
amla आंवला | आंवले के गुण Properties of amla |आंवला खाने के फायदे 

वैसे देखा जाए तो Amla आंवले में काफी गुण होते हैं एक 50 ग्राम आंवला शरीर में 1 किलो घी का कार्य करता है आंवले में विटामिन C होता है ।

1. कब्ज- Amla has benefits in constipation
आंवला रात को सोते समय एक चम्मच आंवले सूखे आंवले का चूर्ण दूध के साथ लेने पर प्रात काल सुबहे  खुलकर पेट साफ होता है और कब्ज की शिकायत खत्म होती है

2.  भूख ना लगना -Amla is hungry
भूख ना लगना 5 ग्राम सूखे आंवले का चूर्ण पानी के साथ लेने पर खुब भुख लगती है।

3.शारीरिक शक्ति के लिए-Amla increases physical capacity
 सूखे आंवले के चूर्ण को 6 ग्राम गाय के दूध के साथ रोज खाने से मर्द का वीर्य अधिक शक्तिशाली बनता है शरीर में शक्ति आ जाती है रक्त शुद्ध होता है तथा वीर्य विकारों जैसे स्वप्नदोष, शीघ्रपतन ,आदि की समस्या समाप्त होती है।

4.पेट और आंतों के छाले -Amla benefits in stomach and intestinal ulcer
ताजे आंवले के रस को शहद मे दो चम्मच के साथ कुछ दिन तक सेवन करने से पेट और आंतों के छाले ठीक हो जाते हैं

5. बलगम के लिए-Amla is beneficial for mucus
 सुखा आंवले Amla दो अच्छे से कुल्हाड़ी  मे  बारीक करके दिन में दो बार बार पानी के साथ लेने पर बलगम साफ हो जाती है

6.दिल की धड़कन-Beneficial Amla for Heartbeat
 जिन आदमियों का दिल बहुत धड़कता हो 50 ग्राम आंवले Amla के मुरब्बे पर चांदी का वर्क लगाकर सुबह खाली पेट 30 दिन खाए बहुत फायदा करता है।

7.सर चकराना-Reduces headache Amla
 दोस्तो गर्मियों में चक्कर आते हो जी घबराता हो तो आंवले Amla का शर्बत पिये इससे चक्कर नहीं आएंगे आंवले विटामिन c पाया जाता है जो हमें एनर्जी देता है।

8.लिकोरिया या सफेद पानी की शिखायत-Amla ends up complaining of white water
लिकोरिया में आंवला 3 ग्राम बारीक करके 6 ग्राम शहद में मिलाकर दिन में 1 बार 15 दिन खाए और खटाई का परहेज करें बहुत लाभ होता है।

9.चौडी योनि -Amla is beneficial in four-fold vagina
आंवले का वृक्ष की डाल 24 घंटे पानी में भिगोकर उसके बाद पानी को छानकर  योनि को रोज उसी से धोए तो वह टाइट होगी।

यह भी पढ़िए
Diabetes मधुमेह | diabetes treatment | diabetes symptoms | suger symptoms |मधुमेह का इलाज,कारण, लक्षण, उपचार

Diabetes मधुमेह | diabetes treatment | diabetes symptoms | suger symptoms |मधुमेह का इलाज,कारण, लक्षण, उपचार

Diabetes मधुमेह डायबिटीज का इलाज Diabetes treatment

Diabetes मधुमेह | diabetes treatment | diabetes symptoms
Diabetes मधुमेह | diabetes treatment | diabetes symptoms 

मधुमेह क्या है- What is diabetes
मधुमेह डायबिटीज के नए या पुराने रोगी को मीठे तथा शुगर वाले पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए ।
आज के इस दौर में डायबिटीज diabetes का रोग अत्यंत बढ़ता जा रहा है लाखों करोड़ों व्यक्ति आज डायबिटीज से परेशान है रोगी है आज आप भोजन व्यायाम मुंह से लेने वाली औषधियां तथा इंसुलिन के बारे में सभी बातें समझ कर अपने चिकित्सक की सलाह मानते हुए उपचार ले लेंगे तो आप इस बीमारी से मुक्त हो जाएंगे

मधुमेह रोग होने के कारण -Due to Diabetes Disease

सबसे पहले जान लेते हैं कि कारण क्या है तो पेनक्रियाज नामक ग्रंथि से निकलने वाले हार्मोन इंसुलिन के कम निकलने अथवा बिल्कुल ना निकलने से अथवा कोशिकाओ द्वारा इंसुलिन का उपयोग करने में असमर्थता या प्रतिरोध के कारण मधुमेह diabetes रोग होता है इस रोग के होने में बहुत से आनुवांशिक कारको  का भी हाथ होता है इससे रोगी के रक्त व मूत्र में सामान्य से अधिक शुगर निकलती है ।

दोस्तो अमेरिकी वैज्ञानिकों के एक अध्ययन में कहा गया है कि सप्ताह में 20 घंटे टीवी देखने वाले को आगे चलकर मधुमेह का खतरा बढ़ जाता है या मधुमेह हो जाता है।

मधुमेह रोग के लक्षण -Symptoms of diabetes
मधुमेह रोग के लक्षण

मधुमेह diabetes के रोगियों को बार बार पेशाब आना बहुत प्यास लगना, अधिक भूख लगना,  घावों का जल्दी ठीक ना होना गुप्तांगों के आस-पास खुजली होना त्वचा व  मसूड़ों में विकार होना ,नजर कमजोर होना , मुँह सुखना, वजन कम होना, कमजोरी और थकावट होना, हाथ पैरों का सूस्त होना या यौन दुर्बलता, पेशाब में चींटी लगना ,गेंगरिन होना और बेहोशी आना आदि।

उपाय चिकित्सा -Remedy for diabetes mellitus

1. Diagnosis of glucose is diagnosed with
diabetes
पेशाब में शक्कर की उपस्थिति पता करने के लिए पेशाब में ग्लूकोस की जांच मधुमेह से राहत निदान पाने का पहला कदम है

2. By eating Triphala powders daily, diabetes will end.
मधुमेह के रोगी को त्रिफला का चूर्ण नियमित रूप से रात को आधी चम्मच दूध के साथ सेवन करना चाहिए।

3. Remove diabetes with fenugreek seeds
मेथी दाना 6 ग्राम लेकर थोड़ा कूट लें और श्याम पानी में भिगो दें प्रातः इसे खूब छोटे और बिना मीठा मिलाएं पिए दो माह तक सेवन करने से डायबिटीज मधुमेह के नाम का रोग दूर हो जाता है ।

4. By eating bitter gourts, diabetes is removed
15 ग्राम करेले का रस 100 ग्राम पानी में मिलाकर रोज सुबह खाली पेट करीब 3 माह तक लेना चाहिए खाने में भी करेले की सब्जी खाए कि छाया छाया में सुखाएं खोए हुए करेले का चूर्ण 5 ग्राम दिन में एक बार लेते रहने से मूत्र में शक्कर की मात्रा कम होती है।

5. Hundred grams of jamun kills daily diabetes mellitus
मधुमेह के रोगी को 100 gm  रोजाना जामुन खानी चाहिए जामुन की गुठली का चूर्ण आधा चम्मच दिन में तीन बार पानी के साथ लेने से पेशाब में शक्कर आना कम हो जाती है व diabetes मधुमेह ठिक होने लगता है।

6. By eating ketchup of Jamun ends diabetes
जामुन की गुठली पीसीये और 5 तोला सौठ ,गुड़मार बूटी 10 तोला इन सबको कूट पीसकर ग्वारपाठा यानी एलोवेरा के रस में घोलकर चार चार गोलियां बना लें इसे  दिन में तीन बार पानी के साथ सेवन करते रहने से मधुमेह का रोग शीघ्र दूर हो जाता है।

7.By eating berries ends diabetes
 जामुन के चार हरे और नरम पत्ते खूब बारीक पीसकर 60 ग्राम पानी में रगड़ कर पानी छानकर प्रातः दिन मे 10 दिन तक लगातार पिए तत्पश्चात इसे हर दो महीने बाद 10 दिन तक ले मधुमेघ diabetes डायबिटीज दूर करने की महत्वपुर्ण उत्तम औषधि है।

8.Remove diabetes with leaves of berries
जामुन रोगी को प्रारंभिक अवस्था में जामुन के 4 पत्ते प्रातः तथा श्याम चबाकर 3 दिन खाने से मधुमेह में लाभ होता है।

9.Remove diabetes by eating cooked berries
 अच्छी पकी हुई जामुन 60 ग्राम जामुन को 300 ग्राम उबलते हुए पानी में डालकर ढक दें आधे घंटे बाद मसलकर छान लें इससे तीन भाग करके एक एकमात्र दिन में तीन बार पीने से मधुमेह की शिकायत खत्म हो जाती है।

10.Daily walking leads to diabetes mellitus
सुबह 3 से 4 किलोमीटर तक  अवश्य चलिये है रोजाना पैदल चलने से मधुमेह रोग खत्म होता है

ध्यान रखने योग्य बाते-
मधुमेह के रोगी को मीठी चीजें जैसे गुड़ चीनी मिश्री मीठे फल जैसे केला, आम ,चीकू चावल, मैदा की बनी चीजें नहीं खानी चाहिए

यह भी पढ़िए-
⇨ jaundice  पीलिया,jaundice symptoms | पीलिया के लक्षण | पीलिया का इलाज jaundice treatment 

jaundice | jaundice treatment | jaundice Symptoms | Jaundice causes | पीलिया का इलाज, लक्षण, कारण ,उपचार

jaundice | jaundice treatment |पीलिया का इलाज

jaundice | jaundice treatment | jaundice Symptoms | Jaundice causes |
jaundice | jaundice treatment | jaundice Symptoms | Jaundice causes 

पीलिया क्या है- What is jaundice
पीलिया लीवर से पैदा होने वाला तरल पदार्थ है पर अत्यंत नुकसानदायक भी सिद्ध हो सकता है जब पीठ के अंश जिगर से हाथ में पहुंचने की वजह रक्त वाहिनी में पहुंच जाते हैं तो पीलिया हो जाता है वैसे पीलिया और भी कारणों से होता है।

पीलिया के लक्षण - jaundice Symptoms 

पीलिया के लक्षण जिगर द्वारा ठीक काम ना करने से आलस्य पीलिये की शिकायत है या भूख में कमी जीव पर मेल की परत चढ़ जाना कब्ज, सिर में दर्द, शरीर में दुबला दुबला लगना ,उंगलियो के नाखुन व आंखें व त्वचा पीली पीली महसूस होना ,फीवर रहना पेट में दाएं तरफ पसलियों के नीचे दर्द अनुभव करना और पेशाब का रंग भी पीला होना पीलिया के लक्षण इससे सारे शरीर का रंग पीला पड़ जाता है तथा आंख और नाखून भी पीले पड़ जाते हैं यह सब पीलिया के लक्षण होते है।

पीलिया होने का कारण-Jaundice causes

मानसिक तनाव और प्रदूषित आहार जादा तला गला खाने से व दूषित पानी पिने के कारण होता है।

पीलिये की जांच करने का आसान तरीका-
The easy way to check jellies

jaundice अगर रोगी को ऊपर दिए गए लक्षणों में से कुछ प्रतीत होने लगे तो सर्वप्रथम थोड़ी सी रुई का टुकडे को रोगी के मूत्र में गिला करें और उसे नीछोड़ दे नीछोड़ के बाद यदि रुई पीली हो जाती है तो पीलिया निश्चित है ।

पीलिये के लिए उपचार चिकित्सा- jaundice treatment 

1.  पीलिया में गन्ने का रस पीए -
The juice of sugarcane juice in jaundice

गन्ने का रस लेना अच्छा है लेकिन रस साफ व स्वच्छ बनाया हुआ हो और उसमें बर्फ ना डाले बिना बर्फ के रस पिये।

2. पीलिये में संतरा और नारियल पानी पिए
Drink orange and coconut water in jelly
संतरे का रस, नारियल का पानी मीठा ,अनार का रस ,मूली के पत्तों का रस, फटे दूध का पानी हैं।

3. पीलिये में कच्ची मूली और लौकि खाय
Raw radish and gourd in jaundice
कच्ची मूली ,प्याज, लौकी ,तोरई, टिंडे , पालक, चौलाई आंवला ,टमाटर ,को सिर्फ नमक काली मिर्च डाल कर खा सकते हो ।

4.शहद से पीलीये में राहत होती है।
 Honey is relieved in jaundice.
शहद नित्य तीन बार एक-एक चम्मच एक गिलास पानी में घोलकर पीने से लाभ मिलता है पीपीपी लिया की परेशानी कम होती है

5.पपीता खाने से पीलिया में राहत मिलती है -
Drink papaya provides relief in jaundice
जहां तक हो सके कच्चे पपीता की बिना मिर्च मसाले की सब्जी या पका हुआ पपीता खाएं इससे पीलिया रोग में लाभ होता है।

6. पीपल के पत्ते खाने से पीलिया में लाभ मिलता है
Eating yellow leaves gives benefits in jaundice
पीपल के पेड़ के तीन चार नए छोटे कोमल पत्ते पानी से साफ कर मिश्री या चीनी के साथ-साथ पथ्थर या मिक्सर  पर खूब बारीक पीसकर पानी में घोलकर साफ कपड़े से छान कर शरबत बनाकर रोगी को दिन में दो बार पिलाएं उससे 7 दिन में पीलिया रोग से छुटकारा मिल जाएगा

7. पीलिया खत्म करने के लिए पेट साफ होना चाहिए
To clear jaundice, the stomach should be cleaned
पीलिया में पेट साफ रखना बहुत जरूरी है उसके लिए त्रिफला व ईसबगोल की भूसी ले सकते हो रोजाना ।

8. लिव-52 टेबलेट से पीलिये में राहत मिलती है -LIVE-52 Tablet offers relief in pelayi
Live 52 टेबलेट हिमालय ड्रग कंपनी की आयुर्वेदिक पेटेंट औषधि है ये दो गोली दिन में तीन बार भोजन के बाद लेने से पीलिया में शीघ्र आराम मिलता है।jaundice

पीलिया में ध्यान देने योग्य बातें-
Things to look for in jaundice
घी,तेल, लाल मिर्च, गरम मसालों से बनी चीज, आचार संपूर्ण खट्टे पदार्थ ना खाए। गाय का मक्खन थोड़ी मात्रा में लिया जा सकता है राई ,हिंग ,तिल ,गुड़, बेसन, कचालू अरबी न ले ।
मेदे से बने भोज्य पदार्थ पैदा करने वाली और जलन पैदा करने वाली चीजों का सेवन बंद कर दें धुप में घूमना आग के पास बैठना परिश्रम के काम करना अधिक पैदल चलना और क्रोध तनाव व संभोग से बचे इन सब बातो का ध्यान रखोगे तो पीलिया जल्द खत्म हो जायगा। jaundice treatment 

यह भी पढ़िए
⇨Diabetes मधुमेह | diabetes treatment | diabetes symptoms | suger symptoms |मधुमेह का इलाज,कारण, लक्षण, उपचार